बोलती तस्वीरेंमनोरंजनसोशल मीडिया

बॉलीवुड पर कोरोना का असर:स्टार्स ने सिक्योरिटी 50% कम की, डिजाइनर कपड़ों में भी कटौती; कुछ ने प्रॉपर्टी तक बेची

  • कुछ बड़े स्टार्स की स्थिति ठीक, लेकिन उनमें से ज्यादातर मानसिक तनाव में, बी और सी ग्रेड के स्टार्स एडजस्टमेंट में लगे

बीते 12 से 15 महीनों में देश में कोरोना ने जो कहर ढाया है, उससे सिर्फ मिडिल और लोअर क्लास परिवारों की ही आर्थिक स्थिति नहीं बिगड़ी। बल्कि, ग्लैमर और चकाचौंध से भरी दिखने वाली फिल्म इंडस्ट्री की जड़ें भी हिल गई हैं। हालात ये हैं कि पिछले एक साल में कई छोटे कलाकारों ने मायानगरी मुंबई को अलविदा कह दिया। सितारों ने अपने घरों की सिक्योरिटी कम की, डिजाइनर कपड़ों की डिमांड भी आधी रह गई। कुछ लोगों को अपनी लाइफ स्टाइल को मेंटेन करने के लिए प्रॉपर्टीज भी बेचनी पड़ी। इसके उलट एक बात ये भी है कि कई बॉलीवुड सेलेब्स ने शेयर मार्केट और म्युचुअल फंड्स में जमकर पैसा भी लगाया है। कोरोना में कमाई के रास्ते बंद होने पर बॉलीवुड स्टार्स ने इन्वेस्टमेंट के जरिए कमाई के कई मौके भी खोजे हैं।

गिनती के कुछ सितारे हैं, जिन पर कोरोना और लॉकडाउन का ज्यादा असर नहीं हुआ, लेकिन इनके अलावा बाकी इंडस्ट्री पर जो संकट है, वो पूरे बॉलीवुड को बेचैन करने वाला है। 2021 की शुरुआत ने कुछ उम्मीदें जगाई थीं। सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्स में रौनक लौटने की राह देख रहे बॉलीवुड में कई प्रोडक्शन हाउसेज ने अपनी फिल्मों की रिलीज डेट भी कन्फर्म कर दी थीं, लेकिन पिछले 15-20 दिनों में कोरोना की दूसरी लहर के कारण प्रोड्यूसर्स फिर रिलीज से हाथ पीछे खींचते दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में इस साल की शुरुआती छमाही में भी स्थितियां सुधरती नहीं दिख रही हैं।

फिल्में कम आईं, रेवेन्यू 80% नीचे गिरा
वर्ष 2019 में बॉलीवुड में कुल 1833 फिल्में रिलीज़ हुई थीं जबकि 2020 में मात्र 441 फिल्में ही रिलीज हो पाईं। फिल्मों का थियेटर से आने वाला रेवेन्यू 80% तक नीचे खिसक गया। फिक्की की हाल ही की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि एंटरटेनमेंट सेक्टर की कुल इनकम 24 फीसदी कम हुई है।

डिजाइनर कपड़ों की बनवाई 50% रह गई : अंजू मोदी
अब स्टार्स डिजाइनर ड्रेस कम ही ऑर्डर कर रहे हैं। शूटिंग के अलावा रेड कारपेट, पार्टीज, खास मीटिंग या इवेंट के लिए स्टार्स ड्रेस ऑर्डर करते थे। एक ड्रेस की कीमत दस हजार से लेकर दस लाख रुपए तक होती है। सेलिब्रिटी फैशन डिजाइनर, बाजीराव मस्तानी और रामलीला की कॉस्ट्यूम डिजाइनर अंजू मोदी बताती हैं कि पहले हर दिन मेरे पास एक्टर्स के ड्रेस के ऑर्डर आते थे, लेकिन कोरोना काल में सब थम गया है। ऑर्डर्स आधे रह गए हैं। इस वजह से मुझे अपना 50 फीसदी स्टाफ कम करना पड़ा।

बॉलीवुड की सिक्योरिटी सर्विसेज में 50% गिरावट
देश की सबसे पुरानी सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट गुरुचरण सिंह चौहान का कहना है कि पूरे देश में हमारी सिक्योरिटी का पांच फीसदी बॉलीवुड-एंटरटेनमेंट में काम करता है, जिसे कोरोना की वजह से 50 फीसदी कम कर दिया गया है क्योंकि इवेंट, क्राउड, पार्टी, फंक्शन सब बंद हैं। ऊपर से सरकार ने इन्हें फ्री वैक्सीन देने वाली सूची में भी शामिल नहीं किया है।

टाइगर सिक्योरिटी एजेंसी के आर.के. दुबे ने बताया कि बड़े स्टार्स इवेंट के वक्त 10-12 बाउंसर या सिक्योरिटी गार्ड ले जाते थे। ये अभी बंद हो चुका है। कुछ स्टार्स के घर पहले जहां 20 सिक्योरिटी गार्ड रहते थे, अब वह पांच से काम चला रहे हैं।

तरह-तरह के फंड्स में लगाया पैसा
मुंबई की प्रमुख इदाफा इन्वेस्टमेंट कंपनी की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर निखत अशरफ मोहम्मदी बताती हैं कि कोविड में मुंबई के अमीर तबके (जिसमें बॉलीवुड और एंटरटेनमेंट सेक्टर के भी क्लाइंट हैं) ने इतना ज्यादा इन्वेस्टमेंट किया, जितना पहले कभी नहीं किया। अल्टरनेट इन्वेस्टमेंट फंड (एआईएफ) के जरिये सेलिब्रिटीज़ ने इन्वेस्टमेंट की, जिसमें मिनिमम इन्वेस्टमेंट एक करोड़ रुपए की होती है। 3-4 साल में इसमें 6 गुना ग्रोथ के साथ पैसा मिलता है। इसके अलावा स्टॉक एक्सचेंज (इक्विटी) में भी सेलिब्रिटीज ने इन्वेस्ट किया।

निखत के अनुसार ग्राउंड पर कोई कमाई तो थी नहीं और कोई कहीं जा भी नहीं सकता था। सेलिब्रिटी तबका अपने फंड्स यहां से वहां डिप्लॉय कर ऐसी-ऐसी इन्वेस्टमेंट्स कर रहा था कि आने वाले सालों में उन्हें मुनाफा हो सके। हमारी कंपनी को कोविड में एक मिनट का भी समय नहीं था। सारा काम फोन और ईमेल से होता था। हमने बीते कई साल में इन्वेस्टमेंट का इतना काम नहीं किया। लोगों ने रिलायंस, ओला और जमैटो और फार्मा जैसी कंपनियों के शेयर में पैसा लगाया।

बड़े स्टार्स डिप्रेशन या तनाव में, छोटे आर्थिक संकट में
एक्टर पीयूष मिश्रा का कहना है कि इस्टैब्लिश स्टार्स को एक ही दिक्कत है कि वो डिप्रेशन में हैं, लेकिन गुज़र-बसर की चिंता नहीं है। इसके उलट स्ट्रगल करने वाले और रोजाना की कमाई पर पलने वाले एक्टर्स की हालत खराब है। कुछ लोगों ने प्रॉपर्टी तक बेची है, मेरे आसपास के बहुत सारे लोग मुंबई छोड़कर वापस अपने शहरों को लौट गए हैं।
फिल्म एक्टर इसराइल खान बताते हैं- मेरे जैसे एक्टर के लिए भी जिम और वर्कआउट में कटौती संभव नहीं। पहले मैं मीटिंग के लिए अपनी जगुआर से जाता था, अब टैक्सी से चला जाता हूं। पहले मीटिंग भी अच्छी जगहों पर हुआ करती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। बीते एक साल से सोर्स ऑफ इनकम लगभग बंद ही है।

खर्च पूरी तरह नियंत्रण में
इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स काउंसिल टीवी एंड वेब सीरीज के चेयरपर्सन जेडी मजीठिया ने बताया कि टीवी एक्टर्स का ज्यादातर खर्चा लाइफ स्टाइल मेंटेन करने में ही होता है। ड्रेस, पार्लर, महंगे होटल्स में खाना-पीना, जूते और दूसरे कई तरह के खर्चे अब सभी कम कर रहे हैं।

छोटे स्टार्स की जिंदगी में सबसे ज्यादा उथल-पुथल
सीनियर ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा बताते हैं कि ए और बी ग्रेड के एक्टर्स के खर्च कम नहीं हो सकते क्योंकि उनका लाइफ स्टाइल उनकी मजबूरी है, लेकिन उनकी कमाई में कटौती हुई है। बी ग्रेड से नीचे के एक्टर्स की हालत तो एकदम खराब हो गई है। वो या तो कर्ज ले रहे हैं, या अपनी सेविंग खर्च कर रहे हैं और प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। उनकी जिंदगी में असल उथल-पुथल है क्योंकि इस कतार के एक्टर रोजाना की कमाई पर हैं।
फिल्म प्रोड्यूसर और ट्रेड एनालिस्ट गिरीश वानखेड़े के अनुसार ए ग्रेड के एक्टर्स दो साल पहले ही कॉन्ट्रैक्ट साइन करके फीस का 25 फीसदी एडवांस ले लिया करते हैं, लेकिन ऐसा करने वाले गिनती के ही एक्टर्स हैं। इनके अलावा 70 फीसदी इंडस्ट्री रोजाना की कमाई पर चलती है। रोज के काम के हिसाब से उन्हें पेमेंट होता है। ऐसे कई बी ग्रेड के एक्टर्स, जिनके पास दो या तीन फ्लैट थे, उन्होंने गुजारा करने के लिए अपनी प्रॉपर्टी बेच दी। इसके अलावा पार्टी में जाना, पार्टी होस्ट करना, प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करना बिल्कुल बंद कर दिया है।

इन स्टार्स पर कोई असर नहीं
वर्ष 2020 में फोर्ब्स सूची में दुनिया के टॉप 10 सबसे ज्यादा कमाई करने वाले एक्टर्स में भारत से केवल अक्षय कुमार थे। फिल्मों के अलावा एंडोर्समेंट और अन्य स्त्रोत से सालाना 362 करोड़ रुपए की कमाई करने वाले अक्षय कुमार इस सूची में छठे नंबर पर थे।
वर्ष 2020 में फिल्मों की फीस के मामले में इंडस्ट्री के टॉप 5 एक्टर में अक्षय कुमार, सलमान खान, शाहरुख खान, आमिर खान और अजय देवगन रहे। बेशक, आमिर खान ने 2020 में कोई फिल्म नहीं की, लेकिन लाल सिंह चड्ढा की फीस के आधार पर वह चौथे नंबर पर रहे। ये सारे बड़े स्टार्स फीस के अलावा फिल्म के प्रॉफिट में भी हिस्सेदार रहते हैं। फिल्म के तमाम राइट्स के प्रॉफिट में भी उनका हिस्सा होता है। ऐसे में ये अपनी लाइफ स्टाइल मेंटेन कर लेते हैं।

Bol Bharat

Bol Bharat is your news, entertainment, music fashion website. We provide you with the latest breaking news and videos straight from the entertainment industry.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button